इक चीज़ मंगाते हैं हम

हिंदी फ़िल्में > बाबुल की गलियाँ के गाने > इक चीज़ मंगाते हैं हम

गाना: इक चीज़ मंगाते हैं हम
फिल्म: बाबुल की गलियाँ
गायक: किशोर कुमार, आशा भोसले
गीत: राजेंद्र क्रिशन
संगीत: रवि


इक चीज़ मंगाते हैं हम तुमसे पहली बार
पहले चीज़ का नाम बताओ, देखो हम पर शक ना लाओ
उलटी सीधी चीज़ कभी ना मांगे सच्चा प्यार
इक चीज़ मंगाते है हम.........

अच्छी सी फरमाईश करना, सुनाने से पहले क्या डरना
मांगो बाबा कुछ भी मांगो, मांगो हा हा
दिल पर रख कर हाथ करो हमसे पहले इकरार
इक चीज़ मंगाते हैं हम.........

बोलो
मंगू छोटा सा नजराना, हाय इतना लम्बा अफसाना
जल्दी से कह दो, कह तोह रहा हु
अरे जल्दी से कह दो, अरे कह तोह रहा हु
रत को खिड़की खोल के रखना, हाय राम तुम आओगे
हा हा रत को खिड़की खोल के रखना
दो नयनो को बोल कर रखना, आगे बोलो यही
आयें मेरे सपने तोह यह कर ना दें इंकार
इक चीज़ मंगाते है हम.........

हा हा खुली-खुली इस जुल्फ का साया मंगू तोह क्या दोगी
बस, रंग रूप का यह सरमाया मंगू तोह क्या दोगी
ना ना, कहो तुम्हारी बांहों में रह सकता हु
अभी नहीं, क्या इन् होंठो को मै अपना कह सकता हु
ओओ हु अभी नहीं, अभी नहीं, अभी नहीं, अभी नहीं....
अभी नहीं की जाने किस दिन टूटेगी दिवार
इक चीज़ मंगाते हैं हम.........

इक चीज़ मंगाते हैं हम तुमसे पहली बार
पहले चीज़ का नाम बताओ, देखो हम पर शक ना लाओ
अब्ब जो मिलना अच्छा जी
अब जो मिलाना - (२) बांध के सेहरा ही मिलाना सरकार
तोह अगले इतवार जी सरकार, अच्छा है त्यौहार